Monday, December 2, 2019

What is blogging in Hindi?

What is blogging Hindi? 

ब्लॉगिंग क्या है और अपना ब्लॉग कैसे शुरू करें


मैं इस टॉपिक को अलग-अलग पोस्ट के द्वारा आप लोगों को बताऊंगा, तो यदि आप ब्लॉगिंग व अपना ब्लॉग कैसे शुरू करें के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो मेरे इस ब्लॉग को समय-समय पर विजिट करें, और अधिक से अधिक जानकारी ब्लॉगिंग के बारे में इकट्ठी करें. फिर उस जानकारी के हिसाब से अपना ब्लॉगिंग कैरियर व अपना ब्लॉग शुरू करें और अपने ब्लॉग के द्वारा अर्निंग स्टार्ट करें. तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं. इस टॉपिक को और सब से पहले ये जानते है की ब्लॉग क्या होता है.

Blogging what is blogging, bloging kya hai
Blogging


What is Blog?
दोस्तों ब्लॉग एक ऐसा प्लेटफार्म है जहां पर आप अपनी नॉलेज अपने शब्दों में व्यक्त कर सकते हैं और अपने यूजर्स को उस चीज के बारें में जानकारी दे सकते हैं. आप जिस भी विषय के बारे में अच्छी नॉलेज रखते हैं, आप उस विषय से रिलेटेड अपना ब्लॉग स्टार्ट कर सकते हैं, और अपने यूजर्स को जानकारी दे सकते हैं.
दोस्तों इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कि अपना ब्लॉग स्टार्ट करने के लिए आपको किन-किन चीजों की जरूरत पड़ेगी और आप वह चीजें कैसे प्राप्त कर सकते हैं.

अगर आप अपना ब्लॉगिंग कैरियर अभी स्टार्ट ही कर रहें है तो मैं आपको राय दूंगा कि आप शुरुआत में ही बहुत ज्यादा इन्वेस्टमेंट करने की न सोचे. आप चाहे तो अपना ब्लॉगिंग कैरियर फ्री में भी स्टार्ट कर सकते हैं. और जब आपको यह लगेगा कि आपका ब्लॉग बहुत ही अच्छा चल रहा है तब आप चाहें तो उसमें कुछ इन्वेस्टमेंट करके अपने ब्लॉग हो और भी अच्छे ढंग से बना सकते हैं. तो यह कुछ चीजें हैं जो आपको ब्लॉग शुरू करने के लिए बहुत ही आवश्यक है.





ब्लॉग का नाम (Domain Name)
वैसे तो आप चाहे तो ब्लॉगस्पॉट (Blogspot) पर फ्री में अपना ब्लॉग बना सकते हैं. मगर मैं आपको फ्री में ब्लॉगस्पॉट पर अपना ब्लॉग बनाने की राय नहीं दूंगा. क्योंकि अगर आप ब्लॉगस्पॉट में अपना ब्लॉग शुरू करते हैं तो उसमें बहुत सारे प्रतिबंध (Restrictions) हैं जिससे आप अपना ब्लॉग बढ़िया तरीके से नहीं चला पाएंगे. तो सबसे पहले आप एक डोमेन नेम रजिस्टर करें.

आप अपने डोमेन का कोई भी एक्सटेंशन ले सकते हैं एक्सटेंशन यानी .com, .in, .org, .net आदि. अगर आप अपना ब्लॉग डॉट कॉम नाम से रजिस्टर करना चाहते हैं तो बिगरॉक और गोडैडी जैसी कंपनियां डॉट कॉम डोमेन को मात्र  ₹99 से ₹199 तक में आपको दे देते है. (Domain Register in ₹99 Only) यानी कि आपको ₹99 से ₹199 रुपए में अपना डोमेन नेम मिल जाएगा. डोमेन नेम रजिस्टर करते समय एक बात का ध्यान रखें कि आपका डोमेन नेम आपके ब्लॉक के टॉपिक्स से रिलेटेड हो. तो दोस्तों आपका पहला स्टेप कंप्लीट होता है चलिए अब दूसरे स्टेप की ओर चलते हैं.

वेब होस्टिंग (Web Hosting)
वेब होस्टिंग यानी की जहां पर आप अपने आर्टिकल्स, फोटो और फाइल्स को पब्लिश करेंगे. जहां से की कोई भी यूजर आपकी वेबसाइट के पोस्ट, फोटो और पाइल्स को देख सकें, पढ़ सकें और डाउनलोड कर सकें. वेब होस्टिंग के लिए मैं आपको यहां पर दो तरह की वेब होस्टिंग के बारे में बताऊंगा जिसमें से पहली वेब होस्टिंग बिल्कुल फ्री है. जो कि आपको ब्लॉगस्पॉट देता है आप ब्लॉगस्पॉट पर फ्री वेब होस्टिंग कैसे सेटअप करेंगे



दूसरी होस्टिंग जिसमें कि आपको थोड़ा बहुत इन्वेस्टमेंट करना पड़ सकता है. आजकल ऑनलाइन बहुत सारी वेबसाइट होस्टिंग प्रदान करती हैं जो कि आपको ₹150 से लेकर ₹200 महीने तक में मिल जाती है. आप किसी भी कंपनी की पेड होस्टिंग ले सकते हैं और अपना ब्लॉग शुरू कर सकते हैं. तो दोस्तों ब्लॉगिंग के आपके इस कार्य में हमारे दो महत्वपूर्ण पॉइंट कंप्लीट हो चुके हैं चलिए तीसरे पॉइंट की तरफ चलते हैं.





ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म (Blogging Platforms)
आप अपने ब्लॉग के आर्टिकल्स किस प्लेटफार्म पर पब्लिक करें, और कौन सा प्लेटफार्म सबसे बेहतर है. ब्लॉगिंग स्टार्ट करने के लिए दोस्तों अगर आपने फ्री होस्टिंग ली है तो ब्लॉगर आपको एक ही साथ में दो चीजें देता है. पहला फ्री होस्टिंग, दूसरा ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म. यानी की अगर आप ब्लॉगस्पॉट में फ्री होस्टिंग को यूज कर रहे हैं तो आपको कोई भी अलग से ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म लेने की जरूरत नहीं है.

और अगर आप पेड़ होस्टिंग ले रहे हैं तो आपको अपनी होस्टिंग में ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म इंस्टॉल करना पड़ेगा. ब्लॉगिंग का सबसे बढ़िया जो प्लेटफॉर्म है वह वर्डप्रेस (WordPress)  है. वर्डप्रेस आपको फ्री में उपलब्ध हो जाता है. आप अपनी होस्टिंग में वर्डप्रेस को इंस्टॉल करें. अगर आप होस्टिंग में वर्डप्रेस इंस्टॉल करना सीखना चाहते हैं तो इस पोस्ट को पढ़ें. WordPress को कैसे इनस्टॉल करें. उसके बाद आप वर्डप्रेस में जरूरत की बेसिक चीजों की सेटिंग कर ले. जैसे कि अपने ब्लॉग का नाम, ब्लॉग का URL और कुछ सेटिंग्स करे लेतें है तो आप का ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म तैयार हो चुका है. तो चलिए अब आगे बढ़ते हैं.



आर्टिकल या पोस्ट पब्लिशिंग व राइटिंग
जब आप अपना ब्लॉग सेटअप कर लेते हैं तो उसमें अगला सबसे महत्वपूर्ण काम है आपके आर्टिकल्स. आप जिस भी टॉपिक के बारे में आर्टिकल लिख रहे हैं. पहले उस टॉपिक के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर लें. आप चाहे तो Google में उस टॉपिक के बारे में सर्च करके अलग-अलग ब्लॉगर की राय पढ़ सकते हैं. और फिर उन सब टॉपिक्स को पढ़कर आप अपना आर्टिकल बना सकते हैं. ध्यान रखें आप कहीं से भी आर्टिकल को कॉपी ना करें. आप चाहे जितना भी लिखें अपने शब्दों में लिखें अपनी नॉलेज के हिसाब से लिखें. कहीं से भी किसी भी दूसरे ब्लॉग से आर्टिकल्स को कॉपी ना करें.





जब आप अपना ब्लॉग शुरू कर लेते हैं तो लगातार अपने ब्लॉक में आर्टिकल्स डालते रहें. ऐसा ना करें कि 1 दिन में 5-7 डालकर 1 से 2 महीने के लिए चुप बैठ जाएं, और फिर दोबारा फिर 8-10 आर्टिकल एक साथ डालकर फिर से आर्टिकल डालना बंद कर दें, ऐसा कभी भी न करें. जब भी आप अपना ब्लॉग शुरू करें तो उसमें लगातार 7 से 10 दिन में एक आर्टिकल जरूर पब्लिस करें.

अपने आर्टिकल एक-एक करके ही पब्लिस करें और लगातार पब्लिस करते रहें. जिससे की आपके विजिटर्स (Visitors) को यह लगे कि आप लगातार नई-नई जानकारियां लाते रहते हैं. और आपके विजिटर आपके ब्लॉग में लगातार आते रहे. जिससे आपके ब्लॉग के विजिटर्स बढ़ते जाएंगे.

तो दोस्तों यह थे ब्लॉग्गिंग को स्टार्ट करने के लिए चार महत्त्व बातें. अगर आप इन चारों बातों को ध्यान में रखकर अपना ब्लॉग या ब्लॉगिंग कैरियर शुरू करते हैं तो, आप आगे चलकर अपने ब्लॉग को बहुत ही पॉपुलर कर सकते हैं. और अपने इस ब्लॉग के द्वारा कमाई भी कर सकते हैं.



दोस्तों अगर आपके मन में ब्लॉगिंग स्टार्ट करने से रिलेटेड कोई भी सवाल हो तो, नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करना ना भूले. मैं आपके कमेंट का जवाब देने की पूरी कोशिश करुंगा. और आपके ब्लॉगिंग कैरियर को शुरू करने में आपकी हर तरह से पूरी मदद करुंगा. अगर आप मेरे ब्लॉग में पहली बार विजिट कर रहे हैं और इस आर्टिकल को पढ़ रहे हैं तो मैं आपको बता दूं कि मैं आपके लिए अब लगातार इसी तरह से ब्लॉगिंग और ऑनलाइन एअर्निंग के बारे में नई-नई जानकारियां लेकर आने वाला हूं. तो अगर आप चाहते हैं कि आपको मेरे द्वारा दी गई हर जानकारी प्राप्त हो. तो आप लगातार मेरी इस ब्लॉग को विजिट करें और अपने ब्लॉगिंग कैरियर व ऑनलाइन एअर्निंग को स्टार्ट करें.


क्या ब्लॉग बनाना फ्री है ?

जी हाँ, ये फ्री है यदि आप गूगल के टूल blogspot का उपयोग करते हैं तो… इसके जरिये आप ब्लॉग बना सकते हैं और उस पर पोस्ट कर सकते हैं साथ ही Google Adsense की सहायता से Ad भी शो कर सकते हैं और इसके लिए आपको एक भी रूपये नहीं देना होगा.

लेकिन जब आप इसमें थोड़े पुराना हो जाते हैं तो आप कस्टम डोमेन लेंगे .. या फिर अपने ब्लॉग के लिए अलग से होस्टिंग लेकर वर्डप्रेस पर आयेंगे तो आपको निश्चित रूप से इसके लिए पैसे खर्च करने होंगे.


कुछ महत्वपूर्ण ब्लॉगर सर्विस निम्न है जो ब्लॉग बनाने की सुविधाएँ प्रदान करती है :-


WordPress
Blogger
Tumblr
Medium
Quora


ब्लॉग्गिंग शुरू करने से पहले ये 5 बातें ज़रूर जान लें (Five Must-Knows Before You Start Blogging)
English Keyboard से Hindi में कैसे Type करें ?
AdSense चाहिए? तैयार हो जाइए ! How to get AdSense in Hindi

Blogger Blog में SEO Friendly Images कैसे बनायें ?

क्या फर्क है Blogging और Vlogging में ?
जब हम कंटेंट को लिखते हैं और उसे अपने ब्लॉग पर पब्लिश करते हैं तो ये कहलाता है Blogging.

और Vlogging कर अर्थ है Video Blogging …. इतना से आपको समझ में तो आ ही गया होगा… अगर फिर भी समझ में नहीं आया तो आपको बता दें कि जब आप अपना विडियो बनाते हैं और इसे विडियो शेयर प्लेटफार्म जैसे यूट्यूब इत्यादि पर शेयर करते हैं तो ये कहलाता है व्लोग्गिंग.

ब्लॉग्गिंग से क्या फायदे हैं ?
इसके बहुत सारे फायदे हैं जो हर व्यक्ति के लिए अलग अलग हो सकता है…

ऑनलाइन कमाई : ये सबसे बड़ा कारन है ब्लॉग्गिंग में आने का जैसा कि मैंने ऊपर बताया है.. इसका मतलब ये नहीं है सभी लोग सिर्फ पैसे के कारण ही ब्लॉग्गिंग करते हैं.

नयी चीजें सीखना : जब आप ब्लॉग्गिंग करते हैं तो किसी टॉपिक पर लिखते हैं. और ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं है जो पहले से ही सब कुछ जानता है ऐसे में उसे उस टॉपिक पर लिखने के लिए रिसर्च करना होता है और उसके बारे में जानकारी लेनी होती. इस प्रकार वो नयी नयी चीजें सीखता रहता है.

बेहतर लिखने की कला : जब कोई इसकी शुरुआत करता है तो वो सोचता है कि क्या लिखूं या क्या नहीं लिखूं लेकिन जैसे जैसे वो इस क्षेत्र में पूराना होता जाता है वो इसमें सुधार करते जाता है और फिर उसकी ये कला काफी अच्छी हो जाती है.

अपने आप को एक्सप्रेस करना : कहते हैं कि जो बाते बोल नहीं सकते वो बातें लिख दो, और इसके ब्लॉग्गिंग एक बेहतरीन जरिया है इसका. यकीन मानिये जब कोई लिखना शुरू करता है तो इतनी बातें आती है दिमाग में कोई भी पोस्ट लम्बा और लम्बा होता चला जाता है.

दुसरो की सहायता : आप घर बैठे ही दुसरे लोगों की सहायता कर रहे होते हैं. लोगों के पास सवाल होते हैं और आप उनका जवाब दे देते हैं जिनसे आप दोनों को फायदा होता है.

और भी बहुत सारे फायदे हैं जो आप खुद महसूस कर सकते हैं इस क्षेत्र में आकर….

इसका मतलब ये नहीं है कि ये आसान है और आप काफी आसानी से इसे कर सकते हैं. कुछ बातें जो आपको हमेशा ध्यान में रखनी चाहिए वो ये कि…..

हमेशा ब्लॉग अपडेट करना : जब आप अपना ब्लॉग बनाते हैं तो ऐसा नहीं है कि आपने के पोस्ट लिखा और उसे छोड़ दिया. आपको इसके लिए समय देना होगा आपको जितना ज्यादा से ज्यादा पोस्ट लिख सकें ये आपके ब्लॉग के लिए बेहतर होगा. यहाँ ध्यान दें कि आपके पोस्ट के क्वालिटी भी सही होने चाहिए. ये कॉपी पेस्ट नहीं होनी चाहिए.

सब्र रखना : जब आप ब्लॉग बनाते हैं तो आप पहले ही दिन से कमाने नहीं लगते हैं ऐसे में आपको सब्र रखना होगा और हार्ड वर्क करते रहना होगा. आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक आना चाहिए…. गूगल adsense का अप्रूवल मिलना चाहिए.

टेक्निकल सीखना : जब आपका अपना ब्लॉग होगा तो छोटी मोटी परेशानियाँ आती रहेगी ऐसे में जरुरी है कि आप अपने ब्लॉग के एडिटिंग और डिजाइनिंग जैसी बातें हमेशा सीखते रहें.

तो इस तरह मैं आप सभी को इस पोस्ट में बताया कि ब्लॉग्गिंग क्या है और इसके अलावे ब्लॉग्गिंग से संबंधित ढेर सारी जानकारी मैंने आप सभी को दी. इसके अलावे भी यदि आप कुछ जानना चाहते हैं तो आप कमेंट में पूछ सकते हैं.







No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in comment.