Sunday, August 18, 2019

How to link Adhar with pan card?

आधार नंबर और पैन कार्ड को लिंक करने का तरीका? How to link Adhar with pan card?



यहां ध्यान दिया जा सकता है कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट 31 मार्च, 2019 के बाद बिना आधार से लिंक पैन कार्डों को अमान्य कर सकता है। समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट में आकड़ों से पता चला है कि लाखों पैन धारक हैं जो वर्तमान में आधार से लिंक नहीं हैं।

स्थिति को देखते हुए, जिन उपयोगकर्ताओं ने पैन के साथ andआधार को लिंक नहीं किया है, उन्हें 2019 में किसी भी परेशानी से बचने के लिए इसे तुरंत लिंक करवाना चाहिए और ये हैं कुछ आवश्यक कदम जो उन्हें उठाने चाहिए।




How to link adhar with pan card, pan card, adhar card
Link adhar with pan card


नॉन रजिस्टर्ड यूजर्स के लिए:


सबसे पहले यूजर को www.incometaxindiaefiling.gov.in पर जाना होगा और बाईं ओर 'लिंक आधार' टैब पर क्लिक करना होगा। इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए लॉगिन या पंजीकरण की आवश्यकता नहीं है।

जब आप पेज पर हो तो आपको पैन और आधार नंबर भरना है और आधार कार्ड में लिखित अपना नाम दर्ज करना है। ये प्रक्रिया हो जाने के बाद आपको सभी विवरणों की ठीक से पढ़ना है और कैप्चा कोड दर्ज करने के बाद सबमिट पर क्लिक करना है। बाद में भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) द्वारा लिंकिंग को कंर्फम किया जाएगा।










रजिस्टर्ड यूजर्स के लिए:


ये भी है तरीका:

फिजिकल फॉर्म: पैन को आधार से लिंक करने का सबसे सामान्य तरीका एक फॉर्म है। इस प्रक्रिया को नए पैन कार्ड के लिए नहीं इस्तेमाल कर सकते हैं, लेकिन किसी तरह की गलती में सुधार के लिए कर सकते हैं।

पैन को आधार से जोड़ने के ऑनलाइन तरीकों की तरह यह सेवा मुफ्त नहीं है। पैन सर्विस प्रोवाइडर द्वारा सुधार को देखते हुए शुल्क लिया जाएगा। पैन कार्ड में सुधार के लिए 110 रुपये शुल्क देना होगा और आधार में सुधार के लिए 25 रुपये शुल्क देना होगा।






AADHAAR-PAN लिंक करना क्यों है जरूरी?

CBDT के पूर्व चेयरमैन सुशील चंद्र ने कहा था कि पैन रखने वाले सिर्फ 23 करोड़ लोगों ने अब तक आधार (AADHAAR) को लिंक किया है. यह पैन रखने वाले लोगों की कुल संख्या का आधा है.
उन्होंने कहा था कि आईटी विभाग ने अब तक 42 करोड़ पैन जारी किए हैं. उन्होंने कहा था कि पैन से आधार (AADHAAR) लिंक होने और बैंक अकाउंट से पैन लिंक होने से आयकर (Income Tax) विभाग व्यक्ति के खर्च करने के पैटर्न और उससे जुड़ी दूसरी जानकारियां हासिल कर सकता है.
चूंकि कई एजेंसियां आधार (AADHAAR) से लिंक हैं, जिससे यह पता लगाना आसान है कि सरकारी स्कीम का फायदा सही लोगों तक पहुंच रहा है या नहीं.




No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in comment.